चंडीगढ़ पर्यटक स्थल – Chandigarh Tourist Places

चंडीगढ़ पर्यटक स्थल

चंडीगढ़ पर्यटक स्थल - Chandigarh Tourist Places

सुखना लेक :

यह झील चंडीगढ़ पर्यटन का बहुत ही खास पर्यटन स्थल है। सुखना झील पर्यटकों के लिए एक बहुत ही आनन्ददायक स्थल है यहाँ पर पर्यटक नौका विहार का आनंद ले सकते है। चंडीगढ़ के पर्यटन स्थल सुखना झील में बोटिंग से आप झील की खूबसूरती को पास से देख सकते है। सुखना लेक की स्थापना सन 1958 में शिवालिक की पहाड़ियों के किनारे सेक्टर 1 में ली कोर्बुजिए द्वारा की गई थी। इस झील के चीफ इंजीनियर पी.एल. वर्मा थे। यह झील 3 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है। सर्दी ऋतु में विदेशी साइबेरियन पक्षी चंडीगढ़ सुखना लेक के पास प्रवास हेतु यहां पर आते हैं। चंडीगढ़ में कोई भी राष्ट्रीय उद्यान नहीं है, परंतु यहां सन 1986 में स्थापित सुखना झील वन्य  अभ्यारण है। जो 25.42 वर्ग किलोमीटर में फैली हुई है।

चंडीगढ़ पर्यटक स्थल - Chandigarh Tourist Places

रॉक गार्डन :

रॉक गार्डन की स्थापना रॉक गार्डन के संस्थापक नेकचंद जी ने की थी। सन 1957 से इन्होंने विभिन्न पुरानी चीजों (जो चीजें हमारे लिए बेकार हो जाती हैं जिन्हें हम अपने घर से बाहर फेंक देते हैं उन चीजों का इस्तेमाल कर श्री नेक चंद जी ने इस गार्डन की स्थापना की थी) को एकत्रित कर इसकी स्थापना की थी। 19 वर्षों पश्चात सन 1976 में सरकार द्वारा इसका पता लगने के बाद सरकार ने इसका अधिग्रहण कर लिया। और श्री नेक चंद जी को इसका मुखिया बना दिया। यह गार्डन 40 एकड़ में फैला हुआ है। रॉक गार्डन निर्माता श्री नेक चंद को 90 वर्ष की आयु में पदम श्री अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। इनकी मृत्यु 12 जून 2015 को हो गई थी। Chandigarh Tourist Places में रॉक गार्डन सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है यहाँ सैलानियों का साल भर ताँता लगा रहता है यह रोजाना सुबह 10 बजे पर्यटकों के लिए खोल दिया जाता है

चंडीगढ़ पर्यटक स्थल - Chandigarh Tourist Places

जाकिर हुसैन रोज गार्डन :

चंडीगढ़ में स्थित रोज गार्डन का पूरा नाम जाकिर हुसैन रोज गार्डन है। इसका नाम भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ जाकिर हुसैन के नाम पर रखा गया था। रोज गार्डन को सन 1960 में आम नागरिकों के लिए खोला गया था। रोज गार्डन चंडीगढ़ के सेक्टर 16 में स्थित है। इसका कुल क्षेत्रफल 30 एकड़ है। रोज गार्डन बनाने का श्रेय चंडीगढ़ के प्रथम चीफ कमिश्नर मोहम्मद सिंह रंधावा को जाता है। सन 1984 में चंडीगढ़ के चीफ कमिश्नर का पद समाप्त कर दिया गया। चंडीगढ़ के चीफ कमिश्नर के पद को समाप्त करके चंडीगढ़ प्रशासक का पद दिया गया। रोज गार्डन में कुल फूलों की 1600 प्रजातियां पाई जाती हैं। रोज गार्डन में रोज फेस्टिवल फरवरी के महीने  में मनाया जाता है। सन 2017 में रोज गार्डन में 45 वां रोज फेस्टिवल मनाया गया था। यह एशिया का सबसे बड़ा रोज गार्डन है। इसमें 1600 तरह के फूल पाए जाते हैं। इस पार्क की सुन्दरता को बढ़ने के लिए यहा पर एक लगभग 70 फूट का फव्वारा भी लगाया गया है Chandigarh Tourist Places में स्थित रोज गार्डन के खुलने का समय सुबह 05 बजे है और यह पार्क शाम 09 बजे बंद हो जाता है गुलाबो की अनेको तरह की किस्मो को देखने के लिए हजारों की संख्या में प्रतिदिन पर्यटक यहां पर आते हैं।

चंडीगढ़ पर्यटक स्थल - Chandigarh Tourist Places

बॉटनिकल गार्डन :

इस गार्डन की स्थापना श्री लेफ्टिनेंट जनरल जे एस आर याकूब ने 30 मई 2002 को चंडीगढ़ के सारंगपुर नामक गांव में की थी। इसे गार्डन को 15 वनस्पति वर्गों में बांटा गया है। यह गार्डन 176 एकड़ में फैला हुआ है। इसमें एक औषधीय गार्डन भी बना हुआ है। जो 40 एकड़ में फैला हुआ है। इस औषधीय गार्डन में 55 किस्मों की औषधि मिलती है।

चंडीगढ़ का परिचय – Introduction to Chandigarh

Leave a comment