फतेहाबाद जिले का परिचय (पिंक सिटी) – Fatehabad District

Introduction to Fatehabad

फतेहाबाद जिला हरियाणा राज्य के पश्चिमी भाग में स्थित है। इस के पूर्वी भाग में जींद, दक्षिणी भाग में हिसार जिला व राजस्थान राज्य, पश्चिम में सिरसा जिला और उत्तर में पंजाब राज्य का मानसा जिला स्थित है। सन 17 नवंबर 1398 ईस्वी में प्रसिद्ध आक्रमणकारी तैमूर लंग ने फतेहाबाद में कत्लेआम किया था। फतेहाबाद का अस्तित्व सम्राट अशोक के काल से हैं। प्राचीन समय में इस क्षेत्र में भील जाति के लोग रहते थे। और यह क्षेत्र  “उदय नगरी” के नाम से जाना जाता था। 
 
फिरोजशाह तुगलक का शाही काफिला मुल्तान से दिल्ली (सिरसा मार्ग) से जाते हुए यहां पर रुका था। 23 अगस्त 1351 को फिरोजशाह तुगलक के घर पुत्र का जन्म हुआ। पुत्र के जन्म की खुशी में फिरोजशाह तुगलक ने अपनी फतेह पर यह नगर बसाया था। जिसका नाम फतेहबाद रखा और नवजात शिशु का नाम फतेह खान रखा। पहले यह रानियां रियासत का हिस्सा हुआ करता था। परंतु बाद में सन 1784 के बाद खान बहादुर खान भट्टी ने फतेहाबाद को मुख्यालय बनाकर फतेहाबाद की नई रियासत के रूप में स्थापना की थी। फतेहाबाद जिले में मुसलमानों द्वारा बनाए जाने वाले चमड़े के कुप्पे, तराजू के पलड़े, कुए से पानी खींचने वाली चडस और मशक कि समूचे उत्तर भारत में भारी मांग थी।
 
सन 1963 में प्रथम कॉटन मिल की स्थापना हुई। फतेहाबाद जिले में भाखड़ा नहर केे द्वारा सिंचाई की जाती है। 40 हाफिज का मकबरा तथा संत मीर शाह की मजार फतेहाबाद जिले मैं स्थित है।

स्थिति : हरियाणा के पश्चिम भाग में स्थित है। (हिसार जिले से अलग होकर बना है)।

मुख्यालय : फतेहाबाद
स्थापना : 15 जुलाई 1997
क्षेत्रफल : 2538 वर्ग किलोमीटर
उपमंडल : फतेहाबाद, टोहाना, रतिया
तहसीलें : फतेहाबाद, टोहाना, रतिया
उप तहसीलें : भूना, भट्टूकलां, कुलां, जाखल
खंड : फतेहाबाद, टोहाना, रतिया, भूना, जाखल व भट्टूकलां
प्रमुख रेलवे स्टेशन : जाखल
प्रमुख फसलें : गेहूं, बाजरा, चावल, तिलहन, कपास
प्रमुख उद्योग : सूती धागा, कपास चुगाई छटाई उद्योग, सूती वस्त्र उद्योग।
जनसंख्या : 941522 (2011 के अनुसार)
जनसंख्या घनत्व : 371 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर
लिंगानुपात : 903 महिलाएं/प्रति हजार पुरुष
साक्षरता दर : 67.92%
प्राचीन नाम : इक दार
उपनाम : गुलाबी नगरी
महत्वपूर्ण संस्थान : नाभिकीय विद्युत केंद्र (2800 megawatt), MMF College, ब्लड-                                   बैंक(प्रस्तावित)
 

महत्वपूर्ण स्थल :-

फतेहाबाद का किला और लाट :-

फिरोजशाह तुगलक ने अपने पुत्र के जन्मदिन की खुशी में फतेहाबाद शहर बसाकर नगर की सुरक्षा के लिए एक विशाल किले एवं सुरंगों का निर्माण करवाया था यहां एक गोलाकार स्तंभ भी है।

फतेहाबाद की मस्जिद :-

शेरशाह सूरी से पराजित होकर हुमायूं ने अपनी जान बचाने के लिए फतेहाबाद सिरसा मार्ग से अमरकोट जा रहा था। तो उसने फतेहाबाद में शुक्रवार को इबादत करते हुए यहां पर एक मस्जिद बनवाने की घोषणा की थी।

मीर शाह मजार :-

फतेहाबाद में सूफी संत मीरशाह (बाबा शाह खान) की मजार है। इस मजार के प्रांगण में एक पत्थर पर बादशाह हुमायूं का अभिलेख भी चित्रित है।

टोहाना :-

टोहाना जिला फतेहाबाद की प्रमुख तहसील है।हरियाणा के जिला हिसार से हांसी के पश्चात टोहाना का किला इतिहास दृष्टि से महत्वपूर्ण है। इस किले पर विदेशियों के द्वारा 38 बार आक्रमण किया गया। जिससे इसकी महता का पता चलता है। सिंधु सभ्यता काल में टोहाना एक विकसित नगर रहा है।सरस्वती नदी के किनारे बसे इस नगर की चर्चा अष्टाध्याई के प्रसिद्ध व्याकरण शास्त्री पाणिनि ने भी की है। सन 1398 में तैमूर लंग के आक्रमण के दौरान टोहाना के लोगों ने उनको नाको चने चबा दिए थे। सन 1752 से 1798 तक यह फतेहाबाद रियासत का हिस्सा था। सन 1970 में इंदिरा गांधी राजकीय डिग्री कॉलेज फतेहाबाद में ही स्थापित किया गया। यहां से पांच नहरों के निकलने के कारण टोहाना को नदियों का नगर भी कहा जाता है। टोहाना को सन 1890 में रेलवे मार्ग सेे जोड़ा गया और टोहाना में जिन लोगों ने राव तुला राम को 1857 की क्रांति में समर्थन किया उन्हें रिसाला के नाम से जाना जाता है।

NOTE :-

  • सबसे कम वन 0.71% वाला जिला है।
  • फतेहाबाद की प्रियंका हरियाणा की पहली महिला पायलट बनी है। 
  • हरियाणा में स्थित सबसे प्राचीन हवेली फतेहाबाद का फिरोजशाह तुगलक महल है। 
  • प्राचीन किला भीरडाना (फतेहाबाद) हड़प्पा सभ्यता का (2018) ने खोजा गया सबसे प्राचीन स्थल है।
 

 

Leave a comment